जेसी बोस विश्वविद्यालय ने स्वर्ण जयंती वर्ष पर जारी किया लोगो- मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने किया लोगो का अनावरण, विश्वविद्यालय को दी शुभकामनाएं

J.C. Bose University launched Golden Jubilee Logo
- CM Manohar Lal unveiled the Logo, Congratulated University www.newsymca.com News YMCA University JC Bose University of science and technology JC Bose UST YMCA UST

www.newsymca.com News YMCA Faridabad फरीदाबाद, 14 जनवरी – JC Bose विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, YMCA फरीदाबाद द्वारा एक शिक्षण संस्थान के रूप में 50वें स्वर्ण जयंती वर्ष में प्रवेश करने के उपलक्ष्य में एक स्वर्ण जयंती लोगो निकाला है। इस लोगो का अनावरण हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल द्वारा कुलपति प्रो. दिनेश कुमार की उपस्थिति में किया गया।मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने विश्वविद्यालय प्रशासन को स्वर्ण जयंती वर्ष की शुभकामनाएं दी तथा आशा की कि विश्वविद्यालय आगे भी विद्यार्थियों को उच्च कोटि की गुणत्मक शिक्षा प्रदान करता रहेगा। इस अवसर पर कुलपति ने मुख्यमंत्री को विशेष स्वर्ण जयंती स्मारक भेंट किया। उन्होंने मुख्यमंत्री को अवगत करवाया कि विश्वविद्यालय की स्वर्ण जयंती वर्ष को यादगार बनाने के लिए इस वर्ष पंक्तिबद्ध रूप से अकादमिक तथा सांस्कृतिक गतिविधियां, सेमिनार तथा सम्मेलन आयोजित करने की योजना है। 

J.C. Bose University launched Golden Jubilee Logo
- CM Manohar Lal unveiled the Logo, Congratulated University www.newsymca.com News YMCA University JC Bose University of science and technology JC Bose UST YMCA UST

कुलपति ने कहा कि विश्वविद्यालय ने राष्ट्रीय महत्व के एक संस्थान के रूप में वर्ष 1969 में इंडो-जर्मन परियोजना के तहत शुरू हुआ था, जिसमें वाईएमसीए आफ इंडिया की राष्ट्रीय परिषद्, केन्द्र व राज्य सरकार तथा जर्मन की केन्द्रीय एजेंसियां भागीदार थी। इस संस्थान की स्थापना का उद्देश्य देश में जर्मन पद्वति पर शिक्षा को बढ़ावा देना था। वर्ष 2019 में इस संस्थान ने 50वें वर्ष में प्रवेश कर लिया है और राज्य सरकार के सहयोग से यह विश्वविद्यालय आज राज्य व राष्ट्रीय स्तर पर अपनी अलग पहचान बना रहा है। वर्ष 2009 में विश्वविद्यालय के रूप में अपग्रेड हुए इस संस्थान ने राज्य के अग्रणी शिक्षण-सह-संबद्ध विश्वविद्यालय के रूप में जाना होता है। इस प्रकार, एक शिक्षण संस्थान के रूप में विश्वविद्यालय का यह एक उद्देश्यपूर्ण क्षण है।विश्वविद्यालय के स्वर्ण जयंती लोगो का डिजाइन, जो प्रतियोगिता के माध्यम से विकसित हुआ है, 50वें वर्ष में विश्वविद्यालय का प्रतीक चिह्न बनेगा। इस डिजाइन के लिए विद्यार्थियों, संकाय सदस्यों तथा भूतपूर्व विद्यार्थियों के माध्यम से 70 प्रविष्टियां आई थी।विश्वविद्यालय स्वर्ण जयंती आयोजन के समन्वयक डॉ. संदीप ग्रोवर ने कहा कि लोगो का अंतिम डिजाइन संस्थान के उद्देश्यों को प्रतिबिम्बित करता है और 50वें वर्ष इसके महत्व को बताता है। इसलिए, लोगो का चयन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए किया है जो किसी अन्य लोगों में नहीं था। यह लोगो ज्ञान एवं ज्ञान के प्रसार के मार्ग पर संस्थागत उत्कृष्टता और प्रतिबद्धता के 50 वर्षाें की अभिव्यक्ति का एक प्रतिरूप है। लोगो के नीचे दिया गया रिबन तथा आदर्श वाक्य ‘विद्या परम् भूषणम्’ अक्षर व भाव के रूप में विश्वविद्यालय के संस्थागत मूल्यों को दर्शाता है तथा विज्ञान व प्रौद्योगिकी में विश्वविद्यालय के क्षेत्र में 50 वर्षाें का प्रतिनिधित्व करता है। लोगो डिजाइन कमेटी के समन्वयक डॉ. अतुल मिश्रा ने बताया कि लोगो के सभी तत्व विज्ञान व प्रौद्योगिका विश्वविद्यालय का प्रतिनिधित्व करते हुए विश्वविद्यालय की एक समग्र तस्वीर प्रस्तुत करते है, जिसका नाम हाल ही में जेसी बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के रूप में परिवर्तित किया गया है। यह देश के महान वैज्ञानिक जगदीश चंद्र बोस को विज्ञान एवं  प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए श्रद्धांजलि भी है। लोगो डिजाइन प्रतिक्रिया में विश्वविद्यालय के एनीमेशन व मल्टी मीडिया विद्यार्थियों का योगदान रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here