19 April 2018 www.newsymca.com News YMCA Faridabad07 1 300x174 - Industrial Conclave in YMCA university Faridabad

वाईएमसीए विश्वविद्यालय में ‘इंडस्ट्रियल काॅन्क्लेव-2018’ का आयोजन आज
औद्योगिक प्रशिक्षण तथा रोजगार के अवसरों को बढ़ाने पर रहेगा फोकस
काॅन्क्लेव में उद्योगों से 150 से ज्यादा प्रतिनिधि लेंगे हिस्सा, अकादमिक-औद्योगिक समझौते होंगे
फरीदाबाद, 19 अप्रैल – वाईएमसीए विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, फरीदाबाद द्वारा 20 अप्रैल, 2018 को ‘रोजगार तथा उभरती हुई प्रौद्योगिकी’ पर आयोजित किये जा रहे एक दिवसीय ‘इंडस्ट्रियल काॅन्क्लेव-2018’ के दौरान विद्यार्थियों की रोजगार क्षमता को बढ़ाने के लिए औद्योगिक प्रशिक्षण के ज्यादा से ज्यादा अवसर प्रदान करने के दृष्टिगत अकादमिक-औद्योगिक समझौते किये जायेंगे तथा विभिन्न क्षेत्रों में विद्यार्थियों के लिए रोजगार के बेहतर अवसरों पर विशेषज्ञ व्याख्यान और पैनल चर्चा आयोजित की जायेगी। काॅन्क्लेव में विभिन्न उद्योगों से 150 से ज्यादा प्रतिनिधियों के हिस्सा लेने की संभावना है।
सम्मेलन की अध्यक्षता कुलपति प्रो. दिनेश कुमार करेंगे। इस अवसर पर बिजनेस डेवलेपमेंट, डीएससी लिमिटेड, दिल्ली के निदेश्क रमनीक बावा, यूनाइटेड टेक्नोलाॅजी के प्रबंध निदेशक अरूण भाटिया तथा फरीदाबाद लघु उद्योग संघ के अध्यक्ष राजीव चावला मुख्य वक्ता के रूप में कार्यक्रम को संबोधित करेंगे। सम्मेलन के दौरान आठ विशेषज्ञ व्याख्यानों का आयोजन भी किया जायेगा।
सम्मेलन का आयोजन विश्वविद्यालय के ट्रेनिंग एवं प्लेसमेंट विभाग द्वारा इंडस्ट्रियल रिलेशन्स प्रकोष्ठ तथा एलुमनई एवं कारपोरेट प्रकोष्ठ के संयुक्त तत्वावधान में किया जा रहा है। सम्मेलन का मुख्य उद्देश्य विश्वविद्यालय द्वारा औद्योगिक-अकादमिक अंतराल को भरने की दिशा में उचित कदम उठाना है ताकि विद्यार्थियों की रोजगार क्षमताओं को बढ़ाया जा सके।
विश्वविद्यालय के ट्रेनिंग एवं प्लेसमेंट अधिकारी डाॅ. लखविन्द्र सिंह तथा सुमन वशिष्ठ ने बताया कि यह सम्मेलन रोजगार प्रदाताओं तथा शिक्षण संस्थान के बीच संवाद का ऐसा मंच है, जहां औद्योगिक विशेषज्ञ विद्यार्थियों के साथ अपने अनुभव साझे करंेंगे जिससे विद्यार्थियों को मौजूदा औद्योगिक मांग के अनुरूप खुद का तैयार करने में मदद मिलेगी।
  1. एलुमनई एवं कारपोरेट प्रकोष्ठ के निदेशक डाॅ. संजीव गोयल इंडस्ट्रियल रिलेशन्स प्रकोष्ठ की निदेशक डाॅ. रश्मि पोपली ने बताया कि सम्मेलन के दौरान नये रोजगार, उभरती नई प्रौद्योगिकियों, विद्यार्थियों को औद्योगिक मांग के अनुरूप तैयार करने तथा औद्योगिक व अकादमिक अंतराल को भरने जैसे विषयों पर चर्चा की जायेगी। विद्यार्थियों के अभिनव विचारों को प्रोत्साहित करने के लिए एक प्रतियोगिता का आयोजन भी किया जायेगा, जिसके लिए विद्यार्थियों को अपने अभिनव विचारों को पोस्टर प्रेजेंटेशन तथा माॅडल्स के माध्यम से प्रस्तुत करने के लिए कहा गया है। प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कृत भी किया जायेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here