www.newsymca.com News YMCA University JC Bose Faridabad.

17 January, 2019, प्रदेश से सबसे सबसे बेहतरीन टेक्निकल संस्थानों में से एक, YMCA विश्वविद्यालय(JC Bose Ust) जो की अब एक डिग्री कॉलेज बनने की राह पर चल पड़ा है, वैसे तो आप यहाँ की सिर्फ तारीफ ही सुनेंगे और यहाँ के अधिकारियों को तो विश्वविद्यालय किसी स्वर्ग से कम नही लगता, लेकिन अगर सच्चाई और आलोचनात्मक दृष्टिकोण से देखा जाए तो यहाँ की हकीकत थोड़ा कष्ट जरूर देगी। ऐसा हमारा कहना नही बल्कि यहाँ पर दाखिला लेने वाले BBA, B.sc, BCA के छात्रों का कहना है। ये तीनो ही कोर्स न्ये-न्ये शामिल किये गए हैं विश्वविद्यालय द्वारा, जब इसे शुरू किया गया था तब प्रशासन ने बड़े ही उत्साह से विद्यार्थियों का स्वागत का उनके उज्जवल भविष्य का वादा किया, मगर मौजूदा हालात देख कर सिर्फ इन बच्चों पर तरस ही खाया जा सकता है। जब से इन छात्रों का दाखिला हुआ तब से इन्हें कभी कभार ही एक-दो किताबें मिली हैं और इस बार तो इन्हें library से एक भी किताब नही दी गयी, और देंगे भी कैसे जब किताबें हैं हीं नही library में। सुनकर आश्चर्य ही होगा लोगो कि जहाँ एक ओर हर दूसरे दिन campus में बड़े-बड़े लोगों को बुलाकर भव्य समारोह किये जातें है, और इतनी महान और ऊर्जावान बातें की जाती हैं, मगर इनका अनुसरण निन्म स्तर पर भी नही किया जाता, न्ये कोर्स की छोड़िये यहाँ के मुख्य engineering कोर्स की बहुत सी किताबें भी पुराने syllabus पर आधारित हैं, AICTE,UGC, के तेज़ी से बदलते हुए नियमों एवं syllabus के आधार पर नई किताबें कम ही लाईं गयीं हैं library में। जब किताबों की समस्या इतनी गहन है तो हर साल syllabus क्यों बदला जाता है?syllabus के इतने तेज़ी से बदलने की वजह से कोई Book publisher ymca के लिए किताबें नही बनाते। एक subject के लिए 2-3 किताबें तो refer करनी ही पड़ती ही है। समस्याएं बढ़ती जा रही है, समाधान किया नही जा रहा। मैं नही जानता ये किस अधिकारी या system की किस दिक्कत का नतीजा है, पर जो भी हो इन सब का समाधान पहले करना चाहिए।

No books to study in JC Bose ymca university faridabad. www.newsymca.com News Ymca Faridabad Ymca university newsymca
Image are not real, used for description only.

चलिये एक छोटा सा समाधान भी सोचा जा सकता है, online, या e-study material भी उपलब्ध कराया जा सकता है जो हर department की Faculty बना कर विद्यार्थियों को दे सके, मैं notes की नही बल्कि complete study material (Strictly according to syllabus with complete reference to theory examinations) की बात कर रहा हूँ, Copyright का ध्यान रखते हुए बस शब्दों को थोड़ा बदल (Copywriting) कर इसे आसानी से बनाया जा सकता। कागज़ और पैसे की बचत होगी, बस थोड़ा सा effort करना होगा।।

टाइल्स, ईंट-पत्थर, ये सब लगाना प्रगति का सूचक है, पर प्राथमिकता किताबों के प्रति होनी चाहिए।।

किसी department या अधिकारी को इस लेख से आपत्ति हो तो मैं क्षमा प्रार्थी हूँ पर इस मुद्दे को उठाना जरूरी है।

Vikas Singh
Editor, News YMCA

No books to study in JC Bose ymca university faridabad. www.newsymca.com News Ymca Faridabad Ymca university newsymca
Images are not real used for description only.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here